विजेंदर सिंह ने चीनी मुक्केबाज को हराकर जीता उसका बेल्ट, डोकलाम में भी सैनिकों ने मनाया जश्न

0
216

6 अगस्त, 2017 –  जब खेल एक जूनून बन जाए. जब अपने हर हुनर में देश का हित और देश का ही लाभ तलाशा जा रहा हो तब यकीनन वो जूनून और लगन जीत की राह ले जाती है और ये साबित किया है भारत की शक्ति के रूप में उभर कर सामने आये विजेंद्र कुमार ने.

विजेंदर सिंह ने चीनी मुक्केबाज को हराकर जीता उसका बेल्ट, डोकलाम में भी सैनिकों ने मनाया जश्न

भारतीय मुक्केबाजी स्टार विजेंदर सिंह ने चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मैमतअली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीतने के बाद भारत-चीन सीमा गतिरोध में आज शांति की अपील की.

यह जीत बिलकुल सही समय पर आई है, जिसे हमेशा याद किया जायेगा. मुकाबला याद रखा जाएगा क्योकि इस समय सरहद पर दोनों देशों की सीमाएं भी लगभग इसी मुद्रा में खड़ी हैं.

मुकाबले से पहले चीनी मुक्केबाज़ ने विजेंदर सिंह के बारे में काफी बातें बढ़-चढ़ कर की थी . चीनी मुक्केबाज का नाम जुल्फिकार मैमैतियाली था जिसे लम्बे समय तक चले और 10 राउंड तक खिंचे मुकाबले में बुरी तरह से हराया.

विजेंदर ने आखिरी तक चले इस मुकाबले में ऐसा दम दिखाया…

अगले PAGE पर पढ़ें : जीत के बाद विजेंदर ने किया कुछ ऐसा जिससे देश का मान और बढ़ गया …