मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : सीबीआई की पूछताछ में सामने आया ये चौंका देने वाला सच! जिससे ब्रिजेश ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें

0
32
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : सीबीआई की पूछताछ में सामने आया ये चौंका देने वाला सच! जिससे ब्रिजेश ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें

Muzaffarpur girl child scandal: This shocking truth came out in the CBI inquiry (नई दिल्ली) : अभी-अभी ‘बिहार’ के ‘मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड’ को लेकर एक चौंका देने वाला खुलासा हुआ है. इस खुलासे के बाद इस घटना के मास्टरमाइंड ‘ब्रजेश ठाकुर’ की मुश्किलें लगातार बढ़ती हुई दिखाई दे रही है. जिससे आरोपी ठाकुर सदमे में है.

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : सीबीआई की पूछताछ में सामने आया ये चौंका देने वाला सच! जिससे ब्रिजेश ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें
मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड

सूत्रों की माने तो ‘सीबीआई’ ने इस मामले में जुड़े हुए ‘साइस्ता परवीन उर्फ मधु’ और ‘अश्विनी कुमार’ को रिमांड पर लेकर पूछताछ की है. जिसमें कई बड़े खुलासे सामने आए हैं. पूछताछ के दौरान दोनों ने सीबीआई अधिकारियों को उन अधिकारियों के नाम भी बताए हैं जो आरोपी ब्रजेश ठाकुर को बचाने में सहायता कर रहे थे. इनमें ‘समाज कल्याण विभाग’ व स्थानीय पुलिस के कई स्थानीय पुलिस अधिकारी शामिल हैं.

यह भी पढ़े – बिहार : बालिका गृह मामले में सरकार को चूना लगाने वालों के खिलाफ ईडी ने लिया ये फैसला

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : सीबीआई की पूछताछ में सामने आया ये चौंका देने वाला सच! जिससे ब्रिजेश ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें
ब्रिजेश ठाकुर

इस खुलासे के बाद ‘सीबीआई’ टीम समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों से लगातार पूछताछ कर रही है. सीबीआई को पूछताछ के दौरान मधु ने जानकारी देते हुए कहा है कि ब्रजेश ठाकुर के खिलाफ कोई भी मुंह नहीं खोलता था. उसकी सरकारी संगठनों के अधिकारियों से गहरी पैठ थी. आरोपी ब्रजेश ठाकुर के कारनामों का पता होने के बाद भी बाल कल्याण समिति और विभागीय अधिकारी कुछ भी नहीं बोलते थे. इसके अलावा जांच के बाद भी वह बालिका गृह में सबकुछ ठीक होने की रिपोर्ट पेश करते थे. इन खुलासे के सामने आने के बाद सीबीआई ऐसे अधिकारियों की जांच के लिए सूची तैयार कर रही है.

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड : सीबीआई की पूछताछ में सामने आया ये चौंका देने वाला सच! जिससे ब्रिजेश ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें
सीबीआई

साइस्ता प्रवीन उर्फ़ मधु के बाद अब सीबीआई समाज क्लयाण समिति के अध्यक्ष ‘दिलीप वर्मा’ की तलाश में लगी हुई है. आरोपी दिलीप की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है.